Breaking News
Home / interesting / पुराणों के अनुसार पति का नाम लेने से होता है ये बड़ा नुकसान, सच जानकर महिलाएं कभी ऐसी गलती नहीं करेंगी

पुराणों के अनुसार पति का नाम लेने से होता है ये बड़ा नुकसान, सच जानकर महिलाएं कभी ऐसी गलती नहीं करेंगी

वैसे तो हिंदू धर्म में व्यक्ति के जन्म से लेकर मृत्यु तक बहुत सी परंपराओं और रीति-रिवाजों का मान है. कई कामों को सही समय देखकर ही किया जाता है. फिर चाहे वो शादी ही क्यों न हो. एक बार शादी जैसे पवित्र बंधन में जुड़ने के बाद पति-पत्नी के साथ परिवार को कई परंपराओं को मानना पड़ता है. हिंदू धर्म में शादी के बाद महिलाओं को पति की लंबी उम्र के लिए करवाचौथ के रूप में निर्जला वर्त रखना होता है. इतना ही नहीं हिंदू धर्म में शादी के बाद महिलाएं अपने श्रृंगार पर खास ध्यान रखती हैं क्योंकि कहा जाता है कि शादी के बाद महिला का सिंदूर और मंगलसूत्र पति लंबी उम्र की निशानी होती है. वहीं आज हम हिंदू धर्म में एक और रिवाज के बारे में बताने जा रहे हैं कि आखिर महिलाएं शादी के बाद पति का नाम क्यों नहीं लेती हैं.

पति का नाम लेने से कांपती हैं महिलाएं

कई महिलाएं आज भी पति को देवता की तरह पूजती हैं iMAGE SOURCE

जहां पहले महिलाएं पतियों का नाम लेना पाप समझती थी और उन्हें देवता की तरह पूजती थी वहीं आज के बदलते माहौल के चलते लड़कियों ने इस परंपरा को बदलकर नाम लेना शुरु कर दिया है. भले ही आज की लड़कियां, लड़को की बराबरी करते हुए कंधे से कंधा मिलकर आगे चल रही हो. साथ ही पुराने रिवाजों को भी भूलती जा रही हैं लेकिन कुछ महिलाएं को मानना है कि पति का नाम लेने से उनके ऊपर बड़ी मुसीबत आ सकती है इसलिए वो पति का नाम लेने से कांपती हैं.

पति का नाम लेना से होता है ये नुकसान

आजकल की लड़कियों ने पतियों का नाम लेना शुरु कर दिया हैं IMAGE SOURCE

दरअसल पहले महर्षि वेदव्यास के मुंह से निकली हर बात पत्थर की लकीर होती थी और उन्होंने ही स्कंद पुराण में पति-पत्नी की इस बात का जिक्र किया है. उन्होंने लिखा है कि जो भी पत्नी अपने पति का नाम लेगी उसके पति की आयु कम होती चली जायेगी. जिसके डर की वजह से कई घरों में आज भी महिलाएं अपने पति का नाम लेने से कांपती हैं.

जो महिलाएं इसका मतलब जानती है वो कभी पति का नाम नहीं लेतीं

आज भी कई घरों में पतिव्रता महिलाएं हैं IMAGE SOURCE

इसके अलावा स्कंद पुराण में बताया गया है कि जो महिला पति और घर के सभी सदस्यों को खाने खिलाने के बाद खाना खाती है वहीं सर्वगुण संपन्न महिला होती है. आज भी कई महिलाएं घरों में सबसे देर में सोती है और सबसे जल्दी उठती हैं. इतना ही नहीं पतिव्रता स्त्रियां अपने पति के इज्जात के बिना घर से बाहर भी नहीं निकलती हैं.

नोट- क्या सच में आज भी इस परंपरा पर महिलाएं विश्वास करती हैं, क्या सच में पति का नाम लेने से पति पर मुसीबत आती है?

NEWS SOURCE

About Aanchal