Breaking News
Home / health / दांत ही नहीं बल्कि शरीर के इस हिस्से को भी बीमारी से बचाता है टूथपेस्ट

दांत ही नहीं बल्कि शरीर के इस हिस्से को भी बीमारी से बचाता है टूथपेस्ट

आप लोग अभी तक बस ये जानते हैं होंगे कि टूथपेस्ट सिर्फ दांतों को साफ़ रखने और उसके कीटाणु खत्म करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है लेकिन आज हम आपको बता रहे हैं कि टूथपेस्ट दांतों के साथ शरीर के एक दूसरे हिस्से की बीमारी का भी सफाया करता है. एक रिसर्च के अनुसार टूथपेस्ट में एक एंटीबैक्टिरियल तत्व पाया जाता है जो दावा के साथ मिलना पर  सिस्टिक फाइब्रोसिस (सीएफ) जैसी खतरनाक बीमारी के इलाज़ के काम आता है. एक शोध में पता चला कि जब ट्राइक्लोसन केमिकल कम्पाउंड में मिल जाता है तो बीमारियों के बचाव के काम आता है. जिसे टोब्रामाइसिन कहा जाता है.  ट्राइक्लोसन एक तत्व है, जो जीवाणु को बढ़ने से रोकता है.

टोब्रामाइसिन  सिस्टिक फाइब्रोसिस (सीएफ) जैसी बीमारी के जीवाणु को मारता है. सीएफ के जीवाणु को स्यूडोमोनानास एरुजिनोसा कहा जाता है.ये बीमारी हर साल लगभग  2,500 से 3,500 लोगों में एक को होती है. ये बीमारी फेफड़ों से सम्बंधित है.


<

सिस्टिक फाइब्रोसिस क्या होता है

सिस्टिक फाइब्रोसिस एक अनुवांशिक बीमारी है जो फेफड़े को प्रभावित करता है. इस बीमारी में लीवर, आंत, लंग्स और ओवरी प्रभावित होते हैं. ये बीमारी बच्चों में नहीं आगे आने वाली पीड़ी तक फैलती है.  इस बीमारी में फेफड़ों पर  म्यूकस की एक मोटी परत बन जाती है.

सिस्टिक फाइब्रोसिस के लक्षण

इस बीमारी के लक्षण बच्चे के जन्म से ही दिखने लगते हैं. इस बीमारी में त्वचा का स्वाद नमकीन जैसा हो जाता है. साँस लेने में समस्या आने लगती और पाचन तंत्र कमजोर हो जाता है.  इस बीमारी के बच्चे आम बच्चो से अलग होते हैं. इनका पसीना अधिक नमकीन होता है.

About mohini